Subscribe now to get Free Girls!

Do you want Us to send all the new sex stories directly to your Email? Then,Please Subscribe to indianXXXstories. Its 100% FREE

An email will be sent to confirm your subscription. Please click activate to start masturbating!

बीवी ने चूत दिलवाई

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम ललित है और में आपके लिए एक नई स्टोरी लेकर आया हूँ. इस स्टोरी में अपना अनुभव आप लोगों के साथ शेयर कर रहा हूँ. मेरी उम्र 38 साल है और में दिल्ली में एक अपार्टमेंट में रहता हूँ. में आपको मेरी और मेरी पत्नी प्रिया की एक नये अनुभव की स्टोरी बता रहा हूँ. अब में आपका समय ख़राब ना करते हुए सीधा स्टोरी पर आता हूँ. दोस्तों हमने मनोज और ऋतु के साथ 3 बार अदल बदलकर सेक्स किया और उसके बाद हम बोर हो गये थे और हम 3 महीने तक अपना सामान्य सेक्स कर रहे थे. एक दिन मैंने प्रिया से कहा कि प्रिया अब कुछ चेंज करे तो उसने कहा कि मनोज और ऋतु के साथ, तो मैंने कहा कि नहीं यार, लेकिन मेरा मन कुछ नया करने को कर रहा है. तो उसने कहा कि नया करने के चक्कर में कहीं हम फंस ना जाए तो अब में भी चुप हो गया.

फिर एक दिन रविवार की सुबह में सो रहा था तो सुबह प्रिया ने आवाज़ लगाई कि ललित दरवाज़ा खोलना बेल बजी है. पूर्वी (जो कि हमारी कामवाली है) आई होगी. फिर में उठा और दरवाज़ा खोला तो सामने कोई 27-28 साल की एक औरत खड़ी थी. वो बोली भाभी है तो मैंने कहा कि हाँ है और नहा रही है, तुम बैठो में बुला देता हूँ. फिर मैंने प्रिया को आवाज़ लगाई कि प्रिया तुमसे कोई मिलने आया है तो प्रिया करीब 5 मिनट के बाद आई. वो लड़की बोली कि भाभी पूर्वी को गावं जाना पड़ा, क्योंकि कल उसके पिताजी गुज़र गये है तो वो मुझे बोलकर गयी है कि में यहाँ के 4-5 घर में काम कर लूँ वो एक बार उसके साथ भी यहाँ आई थी.

फिर प्रिया ने पूछा कि तुम्हारा नाम क्या है? तो उसने कहा कि अंजली, तो उसने कहा कि में 4 महीने पहले दिल्ली आई थी और तब से पूर्वी के साथ रह रही हूँ. हम दोनों एक ही गावं से है. पूर्वी ने बोला था कि में तुझे कोई काम दिलवा दूँगी. अभी में घर पर एक कंपनी का बटन लगाने का काम करती हूँ. अब वो शायद महीने भर में वापस आए, तब तक में आपका काम कर दूंगी और पूर्वी भी गावं पहुँचकर आपको फोन कर देगी, तो प्रिया ने उससे कहा ठीक है तुम काम कर लो. फिर अगले दिन बच्चे स्कूल जाने के बाद में और प्रिया ऐसे ही छेड़खानी कर रहे थे और तभी हमें सेक्स चढ़ने लगा और हम शुरू हो गये. फिर मैंने प्रिया की टाँगे खोली और उसकी चूत चाटनी शुरू कर दी. अब प्रिया भी सिसकारियां लेने लगी और बोली कि ललित जल्दी कर लो नहीं तो कामवाली आ जायेगी तो सारा मूड ख़राब हो जायेगा.

फिर मैंने भी तुरंत लंड निकाला और प्रिया के मुँह में दे दिया और कहा कि आज सिर्फ़ ये कर लो बाकि का कल करेंगे. प्रिया ने कहा कि फिर तुम मेरा उंगली से निकाल दो और में तुम्हें ब्लोवजोब देती हूँ. फिर में अपनी दो उंगलियां प्रिया की चूत में अंदर बाहर करने लगा और प्रिया मेरा लंड चूसने लगी. अभी 1 मिनट ही हुआ था कि बेल बज गयी तो प्रिया बोली कि ललित बेल बजने दो पहले मेरा पानी निकाल दो नहीं तो पूरा दिन चूत गीली रहेगी. फिर मैंने अपनी उंगलियों की रफ़्तार तेज़ कर दी और प्रिया भी मेरे लंड को पूरे जोश से चूसने लगी. फिर अगले 2 मिनट में प्रिया का पानी निकल गया और मैंने भी अपना पानी प्रिया के मुँह में ही छोड़ दिया. उस वक़्त तक 4-5 बेल बज चुकी थी. अब प्रिया जल्दी से उठकर बाथरूम गयी और मुझे गेट खोलने को बोला. फिर मैंने भी अपना अंडरवियर पहनी और गेट खोला तो सामने अंजली थी. वो बोली कि मैंने सोचा घर पर कोई नहीं है तो मैंने कहा कि नहीं हम सो रहे थे.

फिर में अंदर आ गया और वो भी पीछे-पीछे अंदर आ गयी. अब वो झाड़ू उठाकर हमारे बेडरूम में आ गयी. अब में बेड पर लेट गया. फिर जब वो झुकी तो में पागल हो गया, क्या बूब्स थे उसके? और उसने दुपट्टा भी नहीं डाला था. अब मेरा लंड तो फिर से खड़ा हो गया था. तभी प्रिया बोली कि ललित टावल देना तो मैंने अलमारी से टावल निकाला और तब तक अंजली बाहर चली गयी थी. अब में सीधा बाथरूम में चला गया और प्रिया के बूब्स पर टूट पड़ा. अब प्रिया भी ये एक्सपेक्ट नहीं कर रही थी, क्योंकि अभी तो उसने मेरा पानी निकाला था. फिर मैंने भी उसके बूब्स चूसते हुए उसे घुमाया और अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया तो प्रिया बोली कंडोम तो निकाल लो, सेक्स के लिए ये पीरियड सेफ नहीं है. फिर मैंने कहा कि में बाहर निकाल दूंगा तुम बस झुक जाओ. फिर मैंने अपना लंड प्रिया की चूत में झटके से डाल दिया तो प्रिया की चीख निकल गयी. मैंने कहा कि क्या हुआ? पहली बार चुदवा रही हो क्या? तो वो बोली मुझे लग रहा तुम्हें चोदने की ज्यादा जल्दी हो रही है, कहीं लड़की हाथ से ना निकल जाए.

फिर मैंने कहा कि प्रिया चुदवाने में मज़ा आ रहा है या नहीं तो प्रिया बोली बेबी बहुत आ रहा है, तुम कहो तो में चीख-चीख कर चुदवाऊं. तो मैंने कहा कि हाँ चीखो जैसे पहली बार चुदवा रही हो. अब प्रिया भी चिल्लाने लगी, ललित आह्ह्ह्ह, ललित और तेज और तेज, मुझे चोद डालो, अपना लंड पूरा अंदर डाल दो, फुक मी फुक मी, फाड़ दो मेरी चूत और अपना पानी मेरे अंदर ही छोड़ना. में गोली खा लूँगी, तुमने तो एकदम से वार करके मेरी चूत की आग ही बढ़ा दी है, ओहह यस ललित चोदो, चोदो मुझे, चोदो यस, और तभी मैंने अपना पानी उसकी चूत में ही छोड़ दिया. फिर 10 मिनट के बाद हम फ्रेश होकर दोनों बाहर आए तो प्रिया किचन में चली गयी और में ऑफिस के लिए तैयार होने लगा. अब हम रविवार के दिन सब नाश्ता कर रहे थे कि तभी अंजली आ गयी, क्योंकि रविवार को वो लेट आती थी और में नाश्ता करके बच्चों के साथ पार्क में चला गया था.

फिर करीब एक घंटे के बाद में ऊपर आ गया. तभी प्रिया बोली कि पूर्वी का गावं से फोन आया था और वो कह रही थी कि अंजली को एक महीना अपने घर पर रख लो, क्योंकि उसके पास वाले कमरे में तो आदमी रहते और शराब पीकर गाली और लड़ाई करते है इसलिए में उसे वहाँ अकेले नहीं छोड़ सकती. मैंने कहा कि ठीक है तुमसे पूछकर बताउंगी, क्योंकि हमारी प्राइवसी भी ख़त्म होगी और हम इसे जानते भी नहीं है. तभी मैंने कहा कि कोई बात नहीं 15-20 दिन की तो बात है और हमारा गेस्ट रूम तो खाली है और वो सिर्फ़ रात को सोने ही तो आयेगी और दिन में तो वो काम ही करेंगी. फिर प्रिया को भी ये ठीक लगा और उसने पूर्वी को फोन करके हाँ कर दी. फिर उसी रात 8 बजे अंजली आ गयी तो प्रिया ने बोला खाना खाओगी तो अंजली बोली कि नहीं भाभी में खाना खाकर आई हूँ वहाँ तो बस रात को डर लगता है इसलिए पूर्वी को बोला था कि कहीं रात रहने का इंतज़ाम कर दे और आपने मेरी मदद कर दी. तो प्रिया बोली कि कोई बात नहीं आ टी.वी देख ले, में सोने से पहले तेरा बिस्तर निकाल दूंगी, तू गेस्ट रूम में बिछा लेना जो कि हमारे बेडरूम के पास था.

अब रात के 10 बज रहे थे तो बच्चे अपने रूम में चले गये और में और प्रिया अपने रूम में टी.वी देखने लगे और अंजली भी अपने बिस्तर लेकर अपने रूम में चली गयी. फिर मैंने प्रिया से कहा कि कोई पॉर्न मूवी देखे तो प्रिया ने कहा कि कल सोमवार है और बच्चों को स्कूल जाना है और इन सबमें हम लेट हो जायेंगे और सुबह उठने में मुश्किल होगी, अब टी.वी बंद करो और सो जाओ. अब ये रुटीन 2-3 दिन तक चलता रहा और अब गुरुवार को बच्चों का ऑफ था तो मैंने प्रिया को ऑफिस से फोन करके बोल दिया था कि हम आज रात को मज़ा करेंगे. तो प्रिया ने बच्चों को 10 बजे सुला दिया और खुद भी फ्रेश होकर बेड पर आ गयी. उसने रेड कलर की ब्रा और पेंटी पहनी हुई थी. फिर प्रिया बोली कि कोई पॉर्न मूवी लगा लो, तो मैंने एक सेक्सी मूवी चालू कर दी और हम दोनों चूमा चाटी करने लगे.

फिर में प्रिया के बूब्स चूसने लगा और तभी मेरे दिमाग़ में अंजली के बूब्स आ गये तो मैंने प्रिया से बोला कि अंजली के बूब्स मस्त है. तो प्रिया बोली मुझे पता है मैंने तुम्हें उसको देखते हुए नोटीस किया है, लेकिन मैंने कुछ बोला नहीं, बस तुम मज़ा ले लो, लेकिन कुछ करना नहीं क्योंकि आजकल ये सब उल्टा पड़ जाता है. तो मैंने भी प्रिया की पेंटी साईड में की और उसकी चूत को चूसने लगा. अब प्रिया बहुत गर्म हो गयी थी और फिर वो बोली कि बेबी आज मेरे पीछे डाल दो, बहुत दिन हो गये है. फिर में उसके पीछे गांड में उंगली डालने लगा तो मेरी उंगली जा नहीं रही थी तो मैंने कहा कि में किचन से तेल ले कर आता हूँ, फिर मैंने बेड से उतर कर दरवाज़ा खोला तो मुझे ऐसा लगा कि जैसे कोई तेज़ी से भागा है. फिर में बेडरूम से बाहर आकर बच्चों के रूम में गया तो वो सोए हुए थे. फिर मैंने किचन से तेल लिया और बेडरूम में जाने से पहले अंजली के रूम में देखा तो वो एकदम से पलट कर सो गयी.

अब मुझे कुछ अजीब लगा और में बेडरूम में आकर प्रिया को तेल देकर वापस पानी लेने के लिए किचन में आ गया, लेकिन बेडरूम का दरवाज़ा पूरा बंद करके और मैंने किचन की लाईट भी ऑफ कर दी. तभी मैंने देखा कि अब अंजली हमारे बेडरूम के दरवाज़े के पास आकर खड़ी हो गयी, तभी प्रिया बेड से उठी और अंदर कुछ गिरने की आवाज़ आई, तभी अंजली भागकर अपने रूम में चली गयी. अब में पूरा मामला समझ गया था. फिर मैंने बेडरूम में आकर दरवाज़ा पूरा बंद नहीं किया और प्रिया को पूरी बात बताई. अब प्रिया भी बहुत उत्तेजित हो गयी थी. फिर उसने मेरा लंड पकड़कर मुँह में ले लिया और चूसने लगी, फिर में तेल निकालकर प्रिया की गांड में लगाने लगा और बोला कि प्रिया क्या गांड है तुम्हारी? आज में इसे जमकर चोदूंगा तो प्रिया बोली बेबी गांड चूत सब चोदो, अच्छे से चुदे हुये बहुत दिन हो गये, कम ऑन फुक मी. फिर मैंने अपना लंड आराम से प्रिया की गांड में लगाया और अंदर डालने लगा तो प्रिया भी चिल्लाने लगी कि बेबी आराम से डालना दर्द हो रहा है.

फिर मैंने धीरे-धीरे अपना लंड पूरा अंदर डाल दिया और आराम-आराम से अंदर बाहर करने लगा. प्रिया भी बोलने लगी कि बेबी फुक मी, चोदो मुझे, मार लो मेरी गांड, अब अपनी स्पीड तेज कर दो, अब दर्द नहीं हो रहा है, चोदो मुझे. अब प्रिया ने अपनी दो उंगलियां चूत में भी डाल ली थी जो मुझे लंड पर महसूस हो रही थी. फिर मैंने दरवाज़े पर देखा तो मुझे पता चल गया कि अंजली वहाँ पर खड़ी है और चुदाई की आवाज़े सुन रही है. अब में भी जमकर चुदाई करने लगा और बोला कि प्रिया मेरा लंड कैसा लगा? तो प्रिया बोली कि मज़ा आ गया, मन कर रहा है तुमसे सारी रात चुदती रहूँ, अब ऐसा करो कंडोम चढ़ाओं और मेरी चूत में लंड डाल दो. फिर प्रिया सीधी लेट गयी और मैंने कंडोम चढ़ाया और मेरा लंड पूरा उसकी चूत में डाल दिया. अब प्रिया सिसकारियां लेने लगी थी और कहने लगी कि दुनिया में सबसे ज़्यादा आनंद चुदाई में आता है और इसमें इंसान सब कुछ भूल जाता है, ललित अपनी स्पीड तेज कर दो और अपना पानी मेरे चेहरे पर निकालना, मुझे रंडी बनकर चुदवाना बहुत अच्छा लगता है.
best hindi sex stories in hindi, sex hindi sex stories, sex stories free in hindi, sex stories with hindi, hindi sex stories in hindi only, read sex stories in hindi, hindi sex stories in audio, hindi sex stories 2016, indian sex stories hindi, hindi indian sex stories, Antarvasna,
best hindi sex stories in hindi, sex hindi sex stories, sex stories free in hindi, sex stories with hindi, hindi sex stories in hindi only, read sex stories in hindi, hindi sex stories in audio, hindi sex stories 2016, indian sex stories hindi, hindi indian sex stories, Antarvasna, 

फिर मैंने भी अपनी स्पीड तेज कर दी और पूरे जोश के साथ उसे चोदने लगा और बोला कि ले मेरा लंड, ले रंडी प्रिया चुद मुझसे. अब करीब 5 मिनट तक ऐसे चोदने के बाद मैंने कंडोम उतार कर पूरा पानी प्रिया के चेहरे पर निकाल दिया. अब प्रिया मेरा पूरा पानी अपने चेहरे पर, बूब्स पर और बॉडी पर लगाने लगी और बोली कि ललित तुम सही में बहुत ढंग से चोदते हो और कोई तुमसे एक बार चुदवा ले तो फिर वो तुमसे ही चुदवायेगी. अब में और प्रिया पूरी तरह से थक चुके थे और करीब 10 मिनट के बाद प्रिया बोली कि क्या अंजली ने पूरा मज़ा लिया है? तो मैंने कहा हाँ काफ़ी देर तक वो खड़ी रही. अब तुम बाहर जाकर देखो और पानी ले आना तो प्रिया बिना कुछ पहने ही बाहर चली गयी और में भी उसके पीछे चला गया.

फिर हमने दबे पांव गेस्ट रूम में देखा तो अंजली ने अपनी साड़ी ऊपर उठा रखी थी और अपनी चूत में उंगली कर रही थी. उसके रूम में बाहर की रोशनी आ रही थी, उसकी चूत बिल्कुल क्लीन शेव थी. अब प्रिया ने मुझे देखा और मेरा हाथ अपनी चूत पर रख दिया. में समझ गया कि प्रिया एक बार और अपना पानी निकालना चाहती है. फिर में उसे किचन में ले गया और गैस पट्टी पर बैठाकर उसकी चूत में उंगली करने लगा तो लास्ट में जब उसका निकलने वाला था तो उसका हाथ बर्तनो को लगा और तेज़ आवाज़ हुई तो अंजली भी भाग कर किचन में आ गयी और उसने हम दोनों को पूरा नंगा देख लिया, लेकिन वो चुपचाप अपने रूम में चली गयी और हम भी अपने रूम में आकर सो गये.

फिर सुबह बच्चे भी नहाकर खेलने चले गये और अब में बेड पर ही सुस्ता रहा था कि थोड़ी देर में प्रिया आई तो मैंने पूछा कि अंजली से कोई बात हुई तो वो बोली कि वो तो हमारा काम करके बाकी घर में काम करने चली गयी है और मुझे तभी सोसाइटी का बुलावा आ गया था कि आज मीटिंग है तो अब में फ्रेश होकर वहाँ चला गया और शाम को 5 बजे वापस आया. फिर मैंने चाय पी और टी.वी देखने लगा और फिर वो ही रोज़ का रुटीन और रात को फ्री होकर हम अपने बेडरूम में आ गये. फिर मैंने प्रिया से पूछा कि अंजली कहाँ है? तो प्रिया बोली वो आधे घंटे में आयेंगी, वो शर्मा जी के यहाँ कुछ मेहमान आए है तो उन्होंने अंजली को रुका लिया है. फिर प्रिया मुझे बताने लगी कि मेरी अंजली से रात वाले सीन पर बात हुई थी तो मैंने बड़ी उत्सुकता से पूछा क्या बात हुई? तो वो बोली कि मैंने अंजली से सीधा सीधा पूछ लिया कि तुम हमें सेक्स करते हुए क्यों सुन रही थी? और फिर तुम अपनी चूत में उंगली भी कर रही थी.

फिर वो पहले तो घबरा गयी तो मैंने हँसते हुए पूछा कि क्या तुम शादीशुदा हो? तो वो नॉर्मल हुई और बोली हाँ, लेकिन करीब 4 महीने से पति से नहीं मिली तो उस दिन सुबह भैया और आपको मैंने बाथरूम में सेक्स करते देख लिया तो में बैचेन हो गयी. में ही पूर्वी से झूठ बोलकर आपके घर रुकी ताकि में आपको सेक्स करते हुए देख सकूँ और अपने आपको तृप्त करूँ, लेकिन ये पूर्वी से मत कहना. मैंने कहा कि तेरे बच्चे है? तो उसने कहा कि नहीं है और मेरे पति भी निरोध लगाते है तो मैंने कहा कि तूने अपनी चूत भी पूरी साफ की है तो वो बोली कि मेरे पति को पूरी साफ चूत ही अच्छी लगती है इसलिए में हमेशा साफ रखती हूँ. प्रिया बोली कि इन सब बातों से वो नॉर्मल हो गयी और खुलकर बात करने लगी और उसने ये भी बताया कि उसने पूर्वी और उसके पति को भी चुदाई करते देखा है, लेकिन वो तो उसकी साड़ी उठाता है और 5 मिनिट में करके अलग हो जाता है, लेकिन आप लोगों का सेक्स बिल्कुल मेरे पति जैसा है, वो भी मेरी चूत चाटते है और मुझे अपना लंड भी चुसवाते है और बोली कि में तो समझती थी कि मेरा पति ही सेक्स करते हुए गंदा बोलता है, लेकिन आपकी बातें सुनकर तो में पागल सी हो गयी और मुझे उनकी याद आने लगी है.

फिर प्रिया मुझसे बोली कि वो इस वक़्त चुदवाने के लिए पूरी तरह से तैयार है तो मैंने कहा कि तो बुला लो उसको. प्रिया बोली नहीं ऐसे नहीं, में कल दोपहर में उसको बुला लूँगी और टेस्ट करूँगी. फिर हम दोनों यह बातें करके फिर से लग गये और 15 मिनट में जब में प्रिया की चूत में डालने लगा तो बेल बजी और में समझ गया कि अंजली होगी और फिर प्रिया ने नाइटी पहनी और दरवाज़ा खोला तो अंजली अंदर आ गयी. फिर प्रिया ने उससे बोला कि जब भी हम शुरू होते है तो तुम बेल बजा देती हो. वो बोली आप रोज़ करते हो तो प्रिया बोली कि हम तो कई बार दिन में दो बार करते है. फिर प्रिया ने बेडरूम का दरवाज़ा बंद नहीं किया और अंजली से बोली कि आ जा यहाँ बैठकर देख ले, लेकिन वो नहीं आई और हम लोग अपना काम करके सो गये.

फिर अगले दिन प्रिया ने उसे बुलाया और बोली कि अंजली मेरी मालिश कर दे. फिर प्रिया ने अपनी नाईटी उतारी और अपने बेड पर उल्टी लेट गयी और फिर अंजली ने तेल की बोतल ली और प्रिया की मालिश करते हुए बोली कि भाभी आप लोग पीछे से भी करते है तो प्रिया बोली कि हाँ इसमें बहुत मज़ा आता है तो अंजली बोली कि नहीं बहुत दर्द होता है, एक बार मेरे पति ने पीछे से डालने की कोशिश की तो मेरी दर्द के मारे चीख ही निकल गयी थी. प्रिया बोली कि इसके लिए पहले पीछे वाले छेद को तैयार करना पड़ता है और तेल की मदद भी लेनी पड़ती है, जब तूने पहली बार चूत में डलवाया था तो दर्द हुआ था या नहीं, लेकिन बाद में मज़ा आने लगा ना. फिर प्रिया बोली कि चल अब एक काम कर तेल ले और मेरे पीछे वाले छेद में डाल और वहाँ अलमारी खोलकर उसमें से एक रबड़ का लंड पड़ा है वो निकाल ले. फिर अंजली ने जब अलमारी खोलकर रबड़ का लंड पकड़ा तो वो हैरान हो गयी और बोली कि भाभी ये तो असली का लग रहा है.

फिर प्रिया बोली कि हाँ असली का लगेगा, तभी तो असली की तरह मज़े देगा. फिर प्रिया बोली क्यों लेना है? तो अंजली ने अपना सिर झुका दिया तो प्रिया बोली कि चल अपने कपड़े उतार तो अंजली शरमाने लगी, लेकिन प्रिया ने उसे किसी तरह से नंगी कर ही दिया. अब दोनों बिस्तर पर नंगी थी. फिर प्रिया ने लंड पर कंडोम लगाया और तेल भी लगाया और अंजली की चूत में डाल दिया. पहले तो उसे बहुत दर्द हुआ, लेकिन बाद में तो वो उछल-उछल कर लेने लगी और बोलने लगी कि भाभी क्या मस्त चीज़ है ये? मर्द ना हो तो भी खुद को ठंडा कर लो, भाभी और अंदर डालो और जैसे आप भैया से चुदवाती हो, वैसे ही मुझे चोदो. प्रिया बोली कि वो तो में तुझे दे ही दूँगी, तू कहे तो भैया से भी मज़े दिलवा दूँ. अब अंजली सिसकारियां लेते हुए बोली कि अपने पति से मुझे चुदवाओगी. तो प्रिया बोली तो क्या हुआ? लंड घिस थोड़ी जायेगा और ना तेरी चूत घिसेगी, बोल चुदेगी मेरे पति से, में भी तेरा साथ दूँगी. अब अंजली तो पूरी गर्म हो गई थी तो वो बोली जब आपको कोई फर्क नहीं पड़ता, तो में भी चुद लूँगी, मेरा पति भी तो पुर्वी को चोदता है और उसका एक से मन भी नहीं भरता है.

मुझे पता है पूर्वी भी वहाँ मेरे पति से चुद रही होगी. वो साली तो यहाँ भी सक्सेना भाई साहब से चुदती है. अब इस चुदाई में अंजली ने सब कुछ बोल दिया जो उसके दिल में था और अब वो खेल ख़त्म होने के बाद प्रिया ने मुझे फोन करके ग्रीन सिग्नल दे दिया. अब शनिवार रात को बच्चों को में अपने मम्मी पापा के यहाँ छोड़कर वापस आया तो मैंने देखा कि अंजली ने प्रिया की काली नाईटी पहनी हुई थी और कोई कह नहीं सकता था कि ये गावं की लड़की होगी. प्रिया ने उसे पूरा तैयार किया था. अब मुझे देखकर वो बेडरूम में चली गयी और प्रिया बाहर आई और बोली कि तुम फ्रेश हो जाओ. फिर में नहाने चला गया तो प्रिया ने कोल्डड्रिंक में वोड्का डालकर अंजली को दी. उसने पहला घूँट पिया तो वो बोली कि भाभी ये क्या है? तो प्रिया ने कहा कि पी ले इससे तेरी सारी शर्म गायब हो जायेगी और ऐसा मज़ा लेगी कि अपने पति को भी भूल जायेगी. उसने पूरा ग्लास एक घूँट में ही ख़त्म कर दिया और फिर दूसरा ग्लास भी पी लिया.

तभी में बाथरूम से बाहर आ गया और प्रिया ने भी बेडरूम में आकर पॉर्न मूवी चालू कर दी, जिसमें दो लड़कियां एक लड़के के साथ सेक्स करती है. फिर अंजली ने मूवी देखी और थोड़े नशे में बोली कि हाँ ऐसी पिक्चर मेरे पति ने भी मुझे दिखाई है तो प्रिया बोली तुझे तेरे पति ने 4 महीने में पूरा तैयार किया और तू उसे छोड़ आई तो वो तो दूसरो को चोदेगा ही. फिर अंजली थोड़ी दबी हुई आवाज़ में बोली कि उसने मेरे सामने मेरी बड़ी बहन को चोदा तो क्या में वहीं रुकती? लेकिन अब में जाउंगी तो में भी उसके सामने उसके भाई से चुदवाऊंगी और उसका लंड अपनी चूत में डलवाऊंगी. अब उस पर नशा हावी हो रहा था तो में अपना लंड उसके मुँह के पास ले गया. तो अंजली ने फटाफट मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी और बोली कि कितने दिनों के बाद लंड देखा है, मुझे इसकी आदत पड़ गयी थी और उसने मुझे इसका गुलाम बना दिया था, वो हफ्ते में 4 बार मेरी चुदाई करता था और पता नहीं बाकि दिनों में किस किस की चुदाई करता होगा साला हरामी. लेकिन भैया आपका लंड तो उससे भी बड़ा और मोटा है. मैंने कहा कि क्यों मुझे भैया कह कर बहनचोद बना रही है? वो बोली कि भाभी भी तो आपसे चुदाते हुए आपको बहनचोद बोल रही थी.

फिर प्रिया ने अपनी पेंटी साईड में की और अपनी चूत मेरे मुँह में डाल दी. अब में लंड चुसवाते हुए चूत चाट रहा था. फिर अंजली बोली कि भाभी आप कितनी गोरी हो, लेकिन में तो साँवली हूँ और फिर भी भैया को में कैसे अच्छी लगी? तो प्रिया बोली तू 24 साल की है और तूने अभी तक बच्चा भी पैदा नहीं किया है और तेरे बूब्स भी बिल्कुल कसे हुए है और में 36 साल की 2 बच्चो की माँ हूँ और जो तू अब लग रही है ना तो तेरा पति देख ले तो हमेशा तेरे ऊपर ही चढ़ा रहेगा. फिर प्रिया बोली अब में भी ड्रिंक ले लेती हूँ तभी कुछ गर्म हो पायेगा, लेकिन बेबी तुम मत लेना, तुम्हें दो को संतुष्ट करना है. फिर प्रिया ड्रिंक बनाने चली गयी.

फिर मैंने अंजली को उठाया और बेड पर लेटाकर उसकी टाँगे खोल दी और उसकी चूत पर टूट पड़ा तो वो बोली कि चूस लो मेरी और चोद दो मुझे, जैसे आप भाभी को चोदते हो. फिर में अपनी जीभ से उसकी चूत को चोदने लगा तो अंजली बोली कि भैया मुझे कुछ गंदा बोलो, जैसे आप भाभी को चोदते हुए बोलते हो. मैंने कहा कि साली रंडी बड़ी गर्मी है तेरी चूत में, तभी प्रिया ड्रिंक का सीप भरते हुए अंजली के मुँह पर बैठ गयी और बोली साली चल अब मेरी चूत चाट. अंजली अब पूरे नशे में थी और अब वो पूरे जोश से प्रिया की चूत चाटने लगी. फिर 5 मिनट के बाद प्रिया ने ग्लास ख़त्म किया और बोली कि तूने मेरी चूत चुदने के लिए पूरी तैयार कर दी और बेड पर घोड़ी बन गयी और अंजली से बोली कि तू अब अपनी चूत रगड़ ले और ललित तुम मुझे चोदो. तभी अंजली बोली कि भाभी आप तो रोज़ लेती हो, आज मुझे लेने दो, मेरा दो बार बिना चुदाई के पानी निकल गया है तो प्रिया हँसते हुए बोली कि लो भैया चोद लो अपनी बहन को, आओ चोदो इसे.

फिर मैंने कंडोम चढ़ाया और अंजली की चूत में डाल दिया. अब उसकी सिसकारियां निकली और बोली कि भाभी आपकी वजह से मुझे ये आनंद मिला है. तभी प्रिया बोली कि हाँ बहन की लोड़ी ले ले मेरे पति का लंड. मैंने प्रिया को देखा और वो हँसते हुए बोली कि आज हमारा गार्ड अपनी बीवी को बहन की लोड़ी बोल रहा था तभी मैंने सुना. तो में बोला हाँ बहन की लोड़ी तुझे भी चोदूंगा, तू चिंता मत कर, तेरी भी चूत का बाजा बजाऊंगा, पहले इस रंडी की आग को शांत कर दूँ. फिर मैंने अपना मुँह अंजली के बूब्स पर ले जाकर उसके बूब्स चूसने लगा और साथ-साथ उसे चोदने भी लगा. फिर प्रिया हमारे पीछे आई और मेरे बॉल्स को जीभ से चाटने लगी. मैंने प्रिया को रोका, प्लीज़ ऐसा मत करो मेरा जल्दी निकल जायेगा. फिर प्रिया साईड में बैठकर अपनी चूत में उंगली करने लगी और मुझसे बोली कि क्यों चुदाई का मज़ा आया? अब वादा करो कि तुम भी कोई मेरे लिए लाओगे, जिससे में तुम्हारे सामने चुद सकूँ. फिर मैंने हाँ कहते हुए अपनी स्पीड तेज कर दी और करीब 20-25 मिनट तक हर स्टाइल में अंजली की चुदाई की. फिर मैंने कंडोम उतार कर प्रिया के बूब्स की चुदाई करते हुए अपना पानी निकाला..

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.