Kunvaari dost ki bhayaanak chudai

0
1186

Kunvaari dost ki bhayaanak chudai

मैं आशा करता हूँ की आप लोग चुदाई का पूरा मज़ा ले रहें होंगे | अब मैं आप लोगो को अपने बारे में बता देता हूँ | मेरा नाम राजकुमार है | मेरी उम्र 20 साल है | मैं बी ऐ फस्ट इयर में पढ़ता हूँ | मेरी हाईट 6 फुट 3 इंच है | मेरे लंड का साइज़ 6 इंच लम्बा और मोटा 3 इंच है | मैं रहने वाला तम्बोर का हूँ | मैं दिखने में ज्यादा गोरा तो नही हूँ पर मेरी बॉडी ठीक ठाक है जिससे मैं स्मार्ट लगता हूँ | मेरे घर मैं चार लोग रहते हैं मैं और मेरे मम्मी और पापा मेरा छोटा भाई | मेरे पापा एक एक कम्पनी में जॉब करते हैं और मेरी मम्मी हॉउस वाईफ है | मेरा छोटा भाई है जो वो 8वीं में है | मुझे चुदाई करना बहुत पसंद है पर मैंने आज तक चूत नही चोदी है | मैं सेक्सी मूवी देख कर मुठ मार लिया करता हूँ | एक बार की बात है जब मैं नेट पर सेक्सी मूवी देख रहा था तो मुझे सेक्सी कहानी के बारे में पता चला और मैं उस दिन से सेक्सी कहानी पढने लगा | अब मुझे सेक्सी कहानी पढने में बहुत मज़ा आता था और मैं सेक्सी कहानी पढने के बात मुठ मार भी मार लेटा था | जब मैं सेक्सी कहानी पढता था तो मेरा भी मन होता था की मैं भी अपनी कहानी लिखूं और आज मैं एक कहानी प्रस्तुत करने जा रहा हूँ | ये मेरी पहली कहानी है तो इसमें आप लोगो को गलती भी नज़र आयेगी अगर आप लोगो को इसमें लगती नज़र आती हैं तो मुझे माफ़ करना | मैं आशा करता हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आयेगी | मैं आप लोगो को ज्यादा समय न लेते हुए सीधे अपनी कहानी पर आता हूँ |
ये कहानी अभी कुछ दिन पहले की है जब मैं अपने कॉलेज से घर जा रहा था | तब मुझे किसी लड़की ने आवाज दी और जब मैंने पलट कर देख तो वो मेरी बचपन की दोस्त थी | मैं आप लोगो को इसके बारे में बता देता हूँ | ये मेरी दोस्त तब से है जब मैं 6 साल का था और अब मैं उसको 3 साल के बाद देख रहा था | इसका नाम रेशमा है | पहले ये देखने में बहुत दुबली पतली थी लेकिन अब ये दिखने में सेक्सी लग रही थी | मैं आप लोगो को रेशमा के फिगर के बारे में बता देता हूँ | इसके मस्त बड़े बड़े बूब्स और इसकी मस्त चौड़ी गांड थी इसका बदन भी भरा हुआ था | फिर मैं और रेशमा बात करते हुए घर चले गए | फिर दुसरे दिन मैंने उससे खूब सारी बाते की और मैंने मजाक मजाक में पूछ लिया की तुम्हरा कोई बॉयफ्रेंड है क्या तब उसने कहा नही और बोली तुम्हारे होते हुए बॉयफ्रेंड की क्या जरूरत यही सब बाते करते रहे हम कुछ देर तक | उसका मस्त फिगर देख कर मेरा मन तो उसे चोदने का करता था | मैं उससे रोज ही ऐसे ही बाते किया करता था | वो मुझसे मजाक भी किया करती थी | एक दिन की बात है उसके पापा कुछ काम से कहीं जा रहे थे तो उसके पापा ने मुझे कहा बेटा मुझे बस स्टॉप तक छोड़ दो तब मैं उनको बस स्टॉप तब छोड़ कर आया | फिर मैं रेशमा के घर गया तो वो टीवी पर मूवी देख रही थी | मैं भी टीवी देखने लगा हम साथ में देखने लगे | हम कुछ देर तक मूवी देखते रहे और मूवी में सेक्सी सीन आ गया |

जिसको देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया और वो ये देख कर मेरी तरफ देखने लगी | वो मेरी तरफ देख कर मेरी और बढ़ गयी और अपने सर को मेरी टांगो पर रख दिया | तो मैं उसके सर को सहलाते हुए उसके गले पर किस करने लगा और मैं उसके गले में कुछ देर तक ऐसे ही किस करता रहा जिससे वो गर्म हो गयी | फिर उसने मेरी होठो पर अपने होठ रख दिए तो मैं उसके होठो को चूसने लगा | मैं उसके होठो को चूसने के साथ में उसके बूब्स को कपड़े के ऊपर से दबाने लगा | तो उसके मुंह से सिसिकियाँ निकल गयी | मैं उसके होठो को कुछ देर तक ऐसे ही चूसता रहा | फिर मैं उसके बूब्स को दबाते हुए उसके कपडे निकाल दिए और वो मेरे सामने ब्रा और पेंटी में आ गयी | मैं उसके बूब्स को ब्रा के ऊपर से पकड कर मसलने लगा | मैं उसके बूब्स को दबाते हुए उसकी ब्रा भी खोल दी और उसके एक दूध को मुंह में रख कर चूसने लगा | मैं उसके एक दूध को मुंह में रख कर चूस रहा था और दुसरे को हाथ से दबा रहा था | मैं उसके दूध को कुछ देर तक ऐसे ही चूसता रहा | फिर मैंने उसकी पेंटी को निकाल दिया और उसकी चूत में अपने मुंह को घुसा कर उसकी चूत को चाटने लगा | तो उसके मुंह से उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उआआ अह्ह्ह अहह अफ्फ्फ़ फ्फ ह्ह्ह अह्ह्ह्ह अफ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आया अह्ह्ह अह्ह्ह फ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ करने लगी | मैं उसकी चूत में अपनी जीभ को घुसा कर अन्दर बाहर करने लगा | वो उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उआआ अह्ह्ह अहह अफ्फ्फ़ फ्फ ह्ह्ह अह्ह्ह्ह अफ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आया अह्ह्ह अह्ह्ह फ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह उफ़ उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह करने लगी |

Kunvaari dost ki bhayaanak chudai 
Kunvaari dost ki bhayaanak chudai

मैं उसकी चूत को चाटने के साथ में उसकी चूत में अपनी ऊँगली भी घुसा दी और जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगा | वो उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उआआ अह्ह्ह अहह अफ्फ्फ़ फ्फ ह्ह्ह अह्ह्ह्ह अफ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आया अह्ह्ह अह्ह्ह फ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह आह्ह करती हुई अपने चूत को सहलाने लगी | मैं उसकी चूत में जोर जोर से अन्दर बाहर करते हुए उसकी चुत को चाट रहा था | मैं उसकी चूत को कुछ देर ता ऐसे ही चाटता रहा और फिर अपने कपड़े निकाल कर अपने लंड को उसके हाथ में पकड़ा दिया | वो मेरे लंड को हाथ में पकड कर हिलाती हुई अपने मुंह में रख कर चूसने लगी | तो मेरे मुंह से हलकी हलकी आवाज में सिसिकियाँ निकल गयी | वो मेरे लंड को मुंह में रख कर जोर जोर से अन्दर बाहर करती हुई मेरे लंड को चूस रही थी | मैं अपने लंड को उसके मुंह में अन्दर बाहर करते हुए चूसा रहा था | वो मेरे लंड के ऊपर अपनी जीभ को भी रगडती जिससे मेरे मुंह से सिसिकियाँ निकल गयी | मैं अपने लंड को कुछ देर तक ऐसे ही चूसता रहा फिर मैंने अपने लंड को उसके मुंह से निकाल कर उसकी टांगो को थोडा सा फेला कर उसकी चूत के मुंह पर लंड को रख कर घुसा दिया | तो उसके मुंह से उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उआआ अह्ह्ह अहह अफ्फ्फ़ फ्फ ह्ह्ह अह्ह्ह्ह अफ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आया अह्ह्ह अह्ह्ह फ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ की सिसिकियाँ निकल गयी | मैं उसकी चूत में धीरे धीरे अन्दर बाहर करते हुए उसको चोदने लगा | तो वो उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उआआ अह्ह्ह अहह अफ्फ्फ़ फ्फ ह्ह्ह अह्ह्ह्ह अफ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आया अह्ह्ह अह्ह्ह फ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अहह अहह फफ्फ्फ करती हुई अपने बूब्स को मसलने लगी | मैं उसकी चूत में धीरे धीरे धक्को की स्पीड तेज कर दी जिससे उसके मुंह से उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उआआ अह्ह्ह अहह अफ्फ्फ़ फ्फ ह्ह्ह अह्ह्ह्ह अफ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आया अह्ह्ह अह्ह्ह फ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ ह्ह्ह फ्फ ह्ह्ह्ह फ्फ्फ अह्ह्ह की सिसिकियाँ लेने लगी | मैं उसकी चूत में उसको जोरदार धक्को के साथ चोदने लगा | मैं उसको ऐसे ही जोरदार धक्को के साथ कुछ देर तक उसको चोदता रहा और फिर उसकी चूत से लंड को निकाल कर मैंने उसको वहीँ जमीन पर घोड़ी बना दिया | फिर मैं उसकी चूत में उसके पीछे से लंड को डल कर उसको चोदने लगा | तो वो उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उआआ अह्ह्ह अहह अफ्फ्फ़ फ्फ ह्ह्ह अह्ह्ह्ह अफ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आया अह्ह्ह अह्ह्ह फ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उआआ करती हुई अपनी चूत को आगे पीछे करने लगी | मैं उसको जोर जोर के धक्को के साथ उसको चोदने लगा | वो अपनी चूत को हिला हिला कर चुदने लगी | मैं उसकी कमर को पकड कर उसकी चूत में जोर जोर से धक्के मारने लगा | तो वो उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उआआ अह्ह्ह अहह अफ्फ्फ़ फ्फ ह्ह्ह अह्ह्ह्ह अफ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आया अह्ह्ह अह्ह्ह फ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ करती हुई चुदने लगी | मैं उसको इसी तरह से जोरदर धक्को के साथ कुछ देर तक चोदता रहा और फिर 40 मिनट की मस्त चोदाई के बाद मेरे लंड ने सारा माल उसकी गांड पर निकाल दिया | इस तरह से मैंने अपनी दोस्त की मस्त चुदाई की |

मैं आशा करता हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आई होगी और पढने में मज़ा भी आया होगा | कहानी पढने के लिए धन्यवाद |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.